Kuch Baatein Song Lyrics

Kuch Baatein Song Lyrics

Kuch Baatein Song Lyrics

Kuch Baatein Song Lyrics

Song Name :Kuch Baatein
Singer : Payal Dev & Jubin Nautiyal
Music Director : Payal Dev
Lyrics by : Kunaal Vermaa

Kuch Baatein Lyrics In  Hindi

माना हम याहाँ है
दिल मगर वहां है
बड़ी दूर हमसे, हमसफर मेरा है
बनके हवाओ आभी जाऊँ में लेकिन
नहीं जानते उसके दिल में है क्या

कुछ बातें हैं केहनी से
चाहा के भी नहीं केह पाता है
जो मेरे दिल में है, उसके है या नहीं
सोच कर हर दफा घबराते है

कुछ बातें हैं केहने से
चाहा के भी नहीं केह पाता है

साथ तेरा हमे हर कदम चाहिए
जिंदगी में हमे सिर्फ तुम चाहिए
इससे ज़्यादा हमे कुछ नहीं चाहिए
आरजू है यही मेरी बन जाए

तुम्हे मानते है खुदा से भी ज्यादा
हमारी नजर से भी कभी देखना

कुछ बातें हैं केहनी से
चाहा के भी नहीं केह पाता है
जो मेरे दिल में है, उसके है या नहीं
सोच कर हर दफा घबराते है

शाम हो आखिरी याद है आज भी
होके हम, तुम जुदा
फिर मिले ना कभी

दिल ये कहता रहा
रोक लो तुम हमे
तुमने जाते हुए कुछ कहा ही नहीं
आंखों में नहीं एक आंसू मगर
क्यूजेडलिरिक्रस डॉट कॉम
दिल में कितनी बरसातें हैं

जा रेहे है सनम मेहफिलों से तेरी
प्यार तेरा येन्ही छोड़ जाते हैं
ये दोबारा कभी आँखों में ना चुबे
ख्वाब तेरे सभी तोड़ जाते हैं

कुछ बातें हैं केहनी से
चाहा के भी नहीं केह पाता है
जो मेरे दिल में है, उसके है या नहीं
सोच कर हर दफा घबराते है

Kuch Baatein Lyrics In English

Maana ham yahan hai
Dil magar wahan hai
Badi durr hamse, humsafar mera hai
Banke hawao aabhi jaaun mein lekin
Nahin jaante uske dil mein hai kya

Kuch baatein hai keheni unse
Chaha ke bhi nahi keh paate hai
Jo mere dil mein hai, uske hai ya nahi
Soch kar har dafaa ghabrate hai

Kuch baatein hai keheni unse
Chaha ke bhi nahi keh paate hai

Saath tera hame har kadam chahiye
Zindagi mein hame sirf tum chahiye
Isse zyada hume kuch nahi chahiye
Aarzoo hai yehi meri ban jayie

Tumhe mante hai khuda se bhi zyada
Hamari nazar se bhi kabhi dekhna

Kuch baatein hai keheni unse
Chaha ke bhi nahi keh paate hai
Jo mere dil mein hai, uske hai ya nahi
Soch kat hat dafaa ghabrate hai

Shaam ho akhri yaad hai aaj bhi
Hoke hum, tum juda
Phir mile na kabhi

Dil ye kehta raha
Rok lo tum hume
Tumne jaate hue kuch kaha hi nahin
Aankhon mein nahi ek aansu magar
Dil mein kitni barsatein hai

Jaa rehe hai sanam mehfilon se teri
Pyaar tera yenhi chhod jaate hai
Ye dobara kabhi aankhon mein na chhube
Khwaab tere sabhi tod jaate hai

Kuch baatein hai keheni unse
Chaha ke bhi nahi keh paate hai
Jo mere dil mein hai, uske hai ya nahi
Soch kat hat dafaa ghabrate hai

Leave a Comment

Your email address will not be published.