Guru Randhawa, Iulia Vantur – Main Chala Song Lyrics

Guru Randhawa, Iulia Vantur - Main Chala Song Lyrics

Guru Randhawa, Iulia Vantur - Main Chala Song Lyrics

Guru Randhawa, Iulia Vantur – Main Chala Song Lyrics

Song Name : Main Chala Song
Singer : Guru Randhawa, Iulia Vantur
Music Director : Shabbir Ahmed
Lyrics by : Shabbir Ahmed
 

Main Chala Song Lyrics

In English

Main chala teri taraf
Tu chale aur kahin
Main chala teri taraf
Tu chale aur kahin

Main muda teri taraf
Tu mude aur kahin

Tujhe aisa lagta hai
Hath tera chhad gayi
Teri galatfehmi hai
Main to kahin mud gayi

Tere galatfehmi mein
Main kahin ki na rahi

Main bada teri taraf
Tu bade aur kahin
Main chala teri taraf
Tu chale aur kahin

Ankhiyan da rona tainu
Dikhta nahi tha
Dil pe tera naam maine
Likha kahin tha

Likha kahin tha
Dikhta nahi tha

Yeh jo ho gaya hai
Yeh to hona nahi tha
Tujhko paake yaara maine
Khona nahi tha

Tu jo mud jaati to
Main jee jaata

Main to dekhun teri taraf
Tu to dekhe aur kahin
Main to dekhun teri taraf
Tu toh dekhe aur kahin

Main chala teri taraf
Tu chale aur kahin

Takk’di rawaan main tainu
Jee mera karda hai
Ek do kadam tere bin
Aage nahi badhta hai

Aage nahi badhta hai
Jee nahi karta hai

Aage badhke kyun nahi mera
Hath tham leti hai
Sath tera main deta
Kyun sath nahi deti hai

Main to pagla tha
Kuch samajh nahi pata

Meri raah teri taraf
Teri raah aur kahin
Meri raah teri taraf
Teri raah aur kahin

Main chala teri taraf
Tu chale aur kahin

Tujhe aisa lagta hai
Hath tera chhad gayi
Teri galatfehmi hai
Main to kahin mud gayi

Tere galatfehmi mein
Main kahin ki na rahi

Main chala teri taraf
Tu chale aur kahin
Main chala teri taraf
Tu chale aur kahin

Main Chala Song Lyrics In Hindi

मैं चला तेरी तरफ
तू चले और कहीं
मैं चला तेरी तरफ
तू चले और कहीं

मैं मुड़ा तेरी तरफ
तू मुड़े और कहीं

तुझे ऐसा लगता है
हाथ तेरा छड़ गयी
तेरी गलतफेहमी है
मैं तो कहीं मुड़ गयी

तेरी गलतफेहमी में
मैं कहीं की ना रही

मैं बढ़ा तेरी तरफ
तू बढे और कहीं
मैं चला तेरी तरफ
तू चले और कहीं

अँखियाँ दा रोना तैनु
दीखता नहीं था
दिल पे तेरा नाम मैंने
लिखा कहीं था

लिखा कहीं था
दीखता नहीं था

ये जो हो गया है
ये तो होना नहीं था
तुझको पाके यारा मैंने
खोना नहीं था

तू जो मुड़ जाती तो
मैं जी जाता

मैं तो देखूँ तेरी तरफ
तू तो देखे और कहीं
मैं तो देखूँ तेरी तरफ
तू तोह देखे और कहीं

मैं चला तेरी तरफ
तू चले और कहीं

तक्क’दी रवाँ मैं तैनु
जी मेरा करदा है
एक दो कदम तेरे बिन
आगे नहीं बढ़ता है

आगे नहीं बढ़ता है
जी नहीं करता है

आगे बढ़के क्यूँ नहीं मेरा
हाथ थाम लेती है
साथ तेरा मैं देता
क्यूँ साथ नहीं देती है

मैं तो पगला था
कुछ समझ नहीं पाता

मेरी राह तेरी तरफ
तेरी राह और कहीं
मेरी राह तेरी तरफ
तेरी राह और कहीं

मैं चला तेरी तरफ
तू चले और कहीं

तुझे ऐसा लगता है
हाथ तेरा छड़ गयी
तेरी गलतफेहमी है
मैं तो कहीं मुड़ गयी

तेरे गलतफेहमी में
मैं कहीं की ना रही

मैं चला तेरी तरफ
तू चले और कहीं
मैं चला तेरी तरफ
तू चले और कहीं

Leave a Comment

Your email address will not be published.