इक तरफ़ा 2.0 Ek Tarfa 2 0 Song Lyrics- Darsha Rawal

Ek Tarfa 2 0 Song Lyrics

Ek Tarfa 2 0 Song Lyrics

Ek Tarfa 2 0 Song Lyrics

Song Name : Ek Tarfa 2 0
Type: Single Song
Singer : Darshan Raval
Music Director : Darshan Raval
Lyrics by : Youngveer
Music Label : Indie Music

Ek Tarfa 2 0 Song Lyrics in Hindi

ज़िक्र तुम्हारा करता नहीं हूँ
चाहे वो महफ़िल में
फ़िक्र करि ना तू आज वि है ज़िंदा
टूटे हुए इस दिल में

इस दुनिया की इस भीड़ में
कहीं खो ना जाऊं मैं
डर लगता है किसी और का
कहीं हो ना जाऊं मैं

तू खुश है चाहे बहारों में
तू ना था मेरे सितारों में

मोहब्बत हो गयी थी दोनों को
इक अरसा हो गया
मेरा ये इश्क़ था दो तरफ़ा
अब एक तरफ़ा हो गया

वे लाइयाँ दिल तो लाइयाँ
ओह माहि पर तू ना आइयाँ
वे मेरे हिस्से जुदाइयाँ
क्यूँ आइयाँ वे

वे लाइयाँ दिल तो लाइयाँ
ओह माहि पर तू ना आइयाँ
वे मेरे हिस्से जुदाइयाँ
क्यूँ आइयाँ व

 ये मौसम और हवाएं
ये रातें और सुबह
तेरी आहट को तरसे
क्यूँ मेरा रास्ता ये

ये मौसम और हवाएं
ये रातें और सुबह
तेरी आहट को तरसे
क्यूँ मेरा रास्ता ये

चलो रब दिए जे मंज़ूरी
मैनु वि कोई गिला नहीं
लाखां सी मैं मन्नतां मांगेया
पर क्यूँ तू मिला नहीं

यही किस्मत थी दीवाने की
मैं हारा जीत हुई ज़माने की

उसे देखे हुए भी
यारों इक अरसा हो गया
मेरा ये इश्क़ था दो तरफ़ा
अब इक तरफ़ा हो गया

मोहब्बत हो गयी थी दोनों को
इक अर्शा हो गया
मेरा ये इश्क़ था दो तरफ़ा
अब एक तरफ़ा हो गया

Ek Tarfa 2 0 Song Lyrics in English

Zikr tumhara karta nahi hoon
Chahe woh mehfil mein
Fikar kari na tu ajj vi hai zinda
Toote hue is dil mein

Is duniya ki is bheed mein
Kahin kho na jaaun main
Dar lagta hai kisi aur ka
Kahin ho na jaaun main

Tu khush hai chahe baharon mein
Tu na tha mere sitaron mein

Mohabbat ho gayi thi dono ko
Ik arsa ho gaya
Mera yeh ishq tha do tarfa
Ab ek tarfa ho gaya

Ve laaiyan dil ton laaiyan
Oh maahi par tu na aaiyan
Ve mere hisse judaiyan
Kyun aaiyan ve

Ve laaiyan dil ton laaiyan
Oh maahi par tu na aaiyan
Ve mere hisse judaiyan
Kyun aaiyan ve

Yeh mausam aur hawayein
Yeh raatein aur subah
Teri aahat ko tarse
Kyun mera raasta yeh

Yeh mausam aur hawayein
Yeh raatein aur subah
Teri aahat ko tarse
Kyun mera raasta yeh

Chalo rabb diye je manzoori
Mainu vi koyi gila nahi
Lakhan si main mannatan mangeya
Par kyun tu mila nahi

Yahi kismat thi deewane ki
Main haara jeet hui zamane ki

Use dekhe hue bhi
Yaaron ik arsa ho gaya
Mera yeh ishq tha do tarfa
Ab ek tarfa ho gya

Mohabbat ho gayi thi dono ko
Ik arsa ho gaya
Mera yeh ishq tha do tarfa
Ab ek tarfa ho gaya

Leave a Comment

Your email address will not be published.